दस साल बीत जाने पर भी सीवर लाइन तक चालू नहीं कर पायी सरकारें! जनप्रतिनिधि विकास का पीट रहे ढोल !

उत्तराखंड चुनावी चहल पहल


मसूरी:   लगभग दस साल गुजर चुके हैं जब पूरी  मसूरी में सीवर लाइन बिछाने का काम शुरू हुआ था। बेहद बेतरतीब तरीके से शुरू की गई  इस परियोजना पर 65 करोड़ से ज्यादा सरकारी  धन खर्च कर दिया गया मगर सीवर लाइन का फायदा अभी तक कुछ किस्मत वालों या फिर कुछ होशियार लोगों के अलावा मसूरी के आम लोगों को नहीं मिल पाया है। वैसे तो इस योजना की शुरुआत से ही विवाद पैदा होते रहे, कभी इसमें उपयोग किए गए पाइप के साइज़ पर आपत्तियाँ उठायी जाती रही तो कभी इसके  कार्य की गुणवत्ता  पर सवाल उठाये  जाते रहे। इसमें जगह जगह मुख्य मार्गों पर बनाए गए चेम्बर भी  विभागीय लापरवाहियों और कार्य की गुणवत्ता का जीता जागता प्रमाण है। बनाने के कुछ ही दिनों के भीतर ही कई चेम्बर टूट चुके थे भले ही उन्हें दोबारा  बनाया भी  जा चुका है मगर  कुछ  अभी भी टूटी फूटी या फिर सड़क के लेवल से ऊपर उठी हालत में किसी  दुर्घटना का इंतजार करते दिखायी दिए जा सकते हैं।ज्ञात है कि  घनानन्द इन्टर कालेज  के गेट  के पास बने  चेम्बर की वजह से एक महिला की मृत्यु भी हो चुकी मगर आश्चर्य का विषय है कि इस पर किसी जनप्रतिनिधि का ध्यान नहीं गया है। सरकारी कामों में व्याप्त भ्रष्टाचार का प्रत्यक्ष उदाहरण बन चुकी इस परियोजना को पूरा कब तक किया जाएगा ये भविष्य के गर्भ में है क्योंकि अभी तक इसके लिए पूरे STP तक बन कर तैयार नहीं हुए हैं जिसका  बहाना  बनाने के लिए विभागीय अधिकारी तैयार हैं।

Please Watch Por video For more information:


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.